शनिवार, 13 मार्च 2010

एक शब्द होता है
'राजनीति'
जिसे पहली बार
बच्चा अपनी
पुस्तक में
पढ़ता है ,
और फिर
उम्र भर
उसके अर्थ के
लिए लड़ता है।
-सुधीर सक्सेना 'सुधि'

1 टिप्पणी:

  1. भाई सुधीर जी,
    वन्दे!
    आपकी रचनाएं आखर कलश पर और फिर यहां पढ़ीँ,अच्छी लगी।बधाई हो!आपका बाल साहित्य तो खूब पढ़ा है।कविताएं अभी देखी-पढ़ी हैँ।अच्छा लिखते हैँ आप।मेरे ब्लाग पर भी पधारेँ!
    omkagad.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं